#citylife

CITY LIGHTS

How do you deal with the sheer predictability of life? I sit in my tiny apartment balcony each evening, watching the city lights and trying to gather my thoughts on the day gone by. They rarely take a detour. At the end of every single day, I land up having done nearly the same things …

CITY LIGHTS Read More »

बड़े शहरों में मेरा मन नही लगता

बड़े शहरों की ऊँची इमारतों मेंमेरा मन नही लगतायहाँ जगमगाते बल्बदफ़्न करते हैं पहाड़ों की धामचटकनियों के सहारेखिड़की और दरवाज़ेसलामत रखते हैंबहुतायत, दिखावा और मायूसीठंडी बयारें पंखे का टेक लगाएदबे पाँव ही आती हैंबाग़ी हवाओं को यहाँआशियाँ नही मिलताबड़े शहरों की ऊँची इमारतों मेंमेरा मन नही लगताउठती है टीस रोज़ हीइनके बाज़ारों मेंजहाँ बिकते हैं …

बड़े शहरों में मेरा मन नही लगता Read More »

%d bloggers like this: