बताओ न माँ!! (Tell me, Mother)

20190413_163043

Flash fiction based on the given picture by #Womensweb हिन्दी

‘माँ, अब हम दरगाह पर चादर चढ़ाने क्यों नही जाते हैं?’
‘अब हम नही जाएंगे। क्योंकि उन्होंने ही तुम्हारे मामा को मारा है।’
‘मौलवी जी ने?’
‘नहीं।’
‘तो?चादर बेचने वाले अब्दुल ने?’
‘नहीं।’
‘तो?रेहाना की अम्मी ने जो हमें वहां ले जाती थीं?’
‘नहीं।’
‘तो पक्का फ़ज़ल ने मारा होगा।तभी मुझे उसके साथ खेलने से मना किया तुमने।’
‘नही गौरव।’
‘तो किसने मारा माँ? बताओ न।’
‘मुझे परेशान मत करो।’
‘बता दो न माँ किसने मारा? मौलवी जी, रेहाना… किसने मारा माँ? किसने?’

 

 

7 thoughts on “बताओ न माँ!! (Tell me, Mother)”

Leave a Reply

%d bloggers like this: